स्कूल वैन चालक ने नर्सरी की छात्राओं से की हैवानियत,ग्रामीणों के सहयोग से परिजनों ने दबोचा

नर्सरी की छात्राओं से स्कूल वैन चालक द्वारा दरिंदगी किए जाने का सनसनीखेज मामला प्रकाश मे आया है.बिहार के बेगूसराय में स्कूली छात्राओं से दुष्कर्म किया गया है. जिले के बीरपुर थाना क्षेत्र में एक वहशी स्कूल वैन ड्राइवर ने एक साथ दो मासूम बच्चियों को अपना शिकार बनाया है. आरोप है कि वैन ड्राइवर ने दुष्कर्म का वीडियो भी बनाया है. स्कूल के बाद ड्राइवर दोनों बच्ची को घर लेकर जा रहा था, तभी सुनसान जगह पर ले जाकर उसने दोनों बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया.

घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी ड्राइवर दोनों बच्ची को उसके घर छोड़ कर वापस लौट गया. घर पहुंचते ही दोनों बच्ची की हालत देखकर घर वालों द्वारा जब उनसे पूछताछ की गई तो पूरी घटना की सामने आई. सूचना के तुरंत बाद एक बच्ची के परिजन ने ग्रामीणों के सहयोग से भाग रहे ड्राइवर को धर दबोचा. जिसके बाद इसकी जानकारी पुलिस को हुई. घटना के सामने आने के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है. दोनों बच्ची आपस में सहेली है और एक ही गावं में कुछ दूरी पर रहती हैं.

दोनों बच्ची की उम्र पांच साल के करीब है और वो एक निजी विद्यालय में नर्सरी की छात्रा हैं. इस मामले में पुलिस ने आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है. घटना बीरपुर थाना क्षेत्र की है. आरोपी ड्राइवर की पहचान मुफस्सिल थाना क्षेत्र के निवासी के रूप में हुई है. आरोपी पिछले तीन साल से स्कूल का मैजिक वाहन चलाने का काम कर रहा था.

मामले में सदर डीएसपी अमित कुमार ने बताया कि शाम सात बजे वीरपुर थाने को यह सूचना प्राप्त हुई कि दो बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया गया है. मामला में संज्ञान लेते हुए वीरपुर थाना प्रभारी के द्वारा तत्काल कारवाई करते हुए दुष्कर्म के आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया. इस मामले में प्रारंभिक जांच पॉक्सो एक्ट के तहत की जा रही है और साक्ष्य का संग्रह किया जा रहा है.

आरोपी द्वारा दुष्कर्म का वीडियो बनाए जाने के मामले में अमित कुमार ने बताया कि यह जांच का विषय है, आरोपी का मोबाइल पुलिस ने जब्त कर लिया है. इसकी जानकारी अब मोबाइल जांच के बाद ही पता चल पाएगी. ड्राइवर को रखने में स्कूल प्रशासन से चूक हुई है क्योंकि उसका बैकग्राउंड वेरिफिकेशन नहीं कराया गया है. एसपी के द्वारा लगातार किसी भी कर्मी को रखने से पहले उसका बैकग्राउंड जांच करने और वेरिफिकेशन कराने की बात कही गई है. इस मामले में गिरफ्तार आरोपी ने बताया कि वह “पिछले तीन साल से एक निजी स्कूल में ड्राइवर का काम करता हूं. मैंने इस तरह की किसी भी घटना को अंजाम देने और वीडियो बनाने का काम नहीं किया है.”

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *