जेल में बन्द झोलाछाप की किडनी मांग रही महिला,ऑपरेशन के नाम पर निकाल ली थीं दोनों किडनी

बिहार में एक डॉक्टर ने चंद रुपयों के लालच में पेट दर्द का इलाज़ कराने पहुँची महिला की दोनों किडनी निकाल ली।पीड़ित महिला कई माह से अस्पताल में भर्ती है और इलाज़ के सहारे ज़िन्दा है।इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला मुजफ्फरपुर से सामने आया है यहां पिछले दिनों जब एक निजी नर्सिंग होम में इलाज के लिए गई महिला की दोनों किडनी निकाल ली गई।

पेट दर्द की शिक़ायत पर हुई थी महिला भर्ती

आरोप है कि डॉक्टरों ने धोखे से इस घटना को अंजाम दिया। अब पीड़िता गंभीर अवस्था में डायलिसिस के जरिए ही

जीवित हैं। पीड़ित महिला का नाम सुनीता देवी है।उन्होंने बताया कि इस साल सितंबर में ये पूरा मामला हुआ। उन्होंने आरोप लगाया कि वहां डॉक्टरों ने उनकी दोनों किडनी निकाल ली। अब उनकी सरकार से गुहार है कि आरोपी डॉक्टर की किडनी ही ट्रांसप्लांट कराई जाए। साथ ही उन्होंने फरार चल रहे आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार करने की भी मांग की है।जबकि पवन नामक एक झोलाछाप को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Server not Connect, Try Again to Play

डॉक्टर की किडनी मांग रही सुनीता

38 वर्षीय सुनीता देवी का इलाज मुजफ्फरपुर के राजकीय श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में चल रहा है। उन्हें जीवित रहने के लिए नियमित डायलिसिस पर रखा गया है। सुनीता ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ‘मैं सरकार से अपील करती हूं कि मेरी दोनों किडनी निकालने वाले पवन नामक एक डॉक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है उसकी किडनी मुझे ट्रांसप्लांट के लिए दी जानी चाहिए ताकि मैं जीवित रह सकूं।

सुनीता देवी कहा कि ऐसे सभी लालची डॉक्टरों की धरपकड़ के लिए सरकार को मुहिम चलानी चाहिए जो पैसे के लिए गरीबों के जीवन से खिलवाड़ करते हैं।बता दें कि पीड़ित महिला के तीन छोटे बच्चे हैं और वह उनकी देखभाल के लिए जिंदा रहना चाहती हैं। सितंबर में इस घटना के सामने आते ही सरगना आरोपी डॉक्टर आरके सिंह फरार है।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *