मिमिक्री कॉमेडी का ही एक रूप है- जेमी लीवर

जेमी लीवर और उनके भाई जेसी ने हाल ही में एमएक्स प्लेयर पर जारी अड्वेंचरयस मिनी-सीरीज, ‘ए स्पिन अराउंड दुबई’ के साथ दर्शकों को रोमांचित कर दिया है। जेमी लीवर, फराह खान की नकल करने से लेकर आशा भोसले तक, युवा हास्य कलाकार मशहूर हस्तियों की प्रफुल्लित करने के लिए जानी जाती हैं। हाल ही में, जेमी ने बताया कि कैसे उन्होंने मिमिक्री पर काम किया और खुलासा किया कि कैसे उन्होंने अपने पिता, महान अभिनेता कॉमेडियन जॉनी लीवर की नकल की।

मिमिक्री कॉमेडी का एक रूप


जेमी कहती हैं कि ‘‘मिमिक्री कॉमेडी का एक रूप है जिसे मैंने करना चुना और मुझे लगता है कि बहुत कम लोग इसमें कुशल हैं। मेरे पास इसके लिए एक आदत है, इसलिए मैं इसका इस्तेमाल खुद को मैदान में धकेलने के लिए करना चाहता था और यह मेरे लिए एक बड़ा फायदा रहा है। दरअसल, पिताजी नहीं बल्कि आशाजी (भोसले) पहले व्यक्तित्व थी, जिनकी मैंने नकल की और इस तरह मैंने नकल के इस मस्ती भरे कारोबार की शुरुआत की। मुझे डैड की मिमिक्री तो करनी भी नहीं थी, और मुझे आती भी नहीं थी। लेकिन जब मैं प्रदर्शन करती हूं तो यह हमेशा लोगों से अनुरोध होता है।

निर्देशक ने कहा जी की नक़ल करके दिखाओ


जेमी ने अपने पिता की नकल करना कैसे सीखा, इसे शेयर करते हुए, उन्होंने कहा, ‘‘मुझे याद है कि जब मैं टीवी पर एक कॉमेडी शो कर रही थी, तो निर्देशक ने मुझे पिताजी की नकल करने के लिए कहा, और मुझे पता नहीं चला। फिर, शो के मेरे सह-कलाकार मुबीन सौगदगर ने मुझे उनकी नकल करने के गुण सिखाए। इसलिए, मैंने मुबीन से पिताजी की नकल करना सीखा और फिर लोगों के अनुरोध पर ऐसा करना शुरू किया।

में अपने दम पर कर रही हूँ मेहनत


लोगों की कभी न खत्म होने वाली राय के बारे में बात करते हुए, जेमी ने कहा, “कुछ लोगों को ऐसा लग सकता है कि मैं डैड की मिमिक्री से लोगों का ध्यान खींचने की कोशिश कर रही हूं, लेकिन ऐसा नहीं है मैं अपने दम पर मेहनत कर रही हूं। मैंने लोगों का मनोरंजन करने और अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए हर संभव प्रयास करने का फैसला किया है।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *