घास काट रहे युवक को उठा ले गया बाघ,शव छुड़ाने के लिए करनी पड़ी 14 राउंड फायरिंग

उत्तराखंड में जगह-जगह बाघ का आतंक देखने को मिल रहा है जिसके चलते लोगो मे दहशत का माहौल है।ज़िला नैनीताल में कई लोगो को आदमखोर बाघ बीते दिनों में अपना निवाला बना चुका है।अब ताज़ा मामला ऊधमसिंह नगर के खटीमा में पेश आया है।यहां सुरई रेंज के जंगल में घास काटने गए ग्रामीण को बाघ ने अपना निवाला बना लिया। बाघ ग्रामीण को घसीटकर घने जंगल में ले गया। जहां वन विभाग ने 14 राउंड फायरिंग कर बमुश्किल बाघ के कब्जे से युवक का शव क्षत-विक्षत हालत में बरामद किया। इस घटना से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है तो वहीं वन विभाग की टीम के सामने लोगों ने आक्रोश भी जताया।

घात लगाए बाघ ने किया अचानक हमला

बता दें कि सुरई रेंज से सटे गांव हल्दी घेरा निवासी 35 वर्षीय केवल सिंह पुत्र स्व.अमर सिंह अपने तीन साथियों के साथ सुरई रेंज के कंपार्टमेंट संख्या 47 में घास काटने गया हुआ था। इसी दौरान अचानक बाघ ने केवल पर हमला कर दिया।

ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

जिसके बाद बाघ ग्रामीण को घसीटता हुआ जंगल की ओर ले गया। यह देख उसके साथी दहशत में आ गए।उन्होंने इसकी सूचना उन्होंने नजदीक वन चौकी पर तैनात वन कर्मियों को देने के साथ अन्य ग्रामीणों व उसके स्वजनों को दी। सूचना पर वन विभाग की टीम ने बख्तरबंद ट्रैक्टर से जंगल में उसकी तलाश शुरु की। वहीं बड़ी संख्या में ग्रामीण भी जंगल पहुंच गए।युवक की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने वन विभाग के खिलाफ़ प्रदर्शन भी किया।

14 राउंड फायरिंग के बचाया जा सका युवक का शव

मौके पर वन विभाग की टीम के द्वारा बाघ के कब्जे से ग्रामीण को छुड़ाने के लिए 14 राउंड फायरिंग भी की। जिसके बाद बमुश्किल बाघ को भगाने के बाद ग्रामीण के शव को क्षत-विक्षत हालत में बरामद किया। बाघ ने युवक का एक हाथ पूरी तरह से खा लिया था। उसकी गर्दन पर भी गहरे जख्म थे।

जिसके बाद वन विभाग की टीम ने शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया है। इस घटना से ग्रामीणों में खासी दहशत के साथ आक्रोश व्याप्त है। वहीं मृतक के स्वजनों में कोहराम मचा हुआ है। मृतक अपने पीछे पत्नी सुखजिंदर कौर, पुत्री नवनीत कौर, पुत्र सतनाम सिंह को रोता-बिलखता छोड़ गया है। मृतक चार भाईयों में सबसे छोटा था।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *