जानलेवा बुख़ार ने ले ली छात्रा की जान,कल था SSC स्टेनो का एग्ज़ाम

वसीम अब्बासी

ठाकुरद्वारा।नगर व देहात क्षेत्र मे जानलेवा बुख़ार इतना भयंकर रूप लेता जा रहा है,जिससे हर कोई भयभीत है।अब तक जानलेवा बुख़ार के प्रकोप मे आकर लगभग 3 दर्जन लोगो की मौत हो चुकी है।इसी क्रम मे आज नगर के वार्ड नम्बर 1 निवासी हरिओम कुमार की पुत्री नेहा तबियत बिगड़ने पर उसकी प्लेटलेट्स बहुत कम हो गयी और छात्रा की दर्दनाक मौत हो गयी।छात्रा की मौत के बाद परिवार मे कोहराम मच गया।

कल थी नेहा की SSC स्टेनो की परीक्षा

मृतक छात्रा नेहा पढ़ाई मे बहुत होनहार थी और नगर के एक कोचिंग सेन्टर पर कम्पटीशन की तैयारी कर रही थी,परिजनों का कहना है कि कल बेटी की SSC स्टेनो की परीक्षा थी,जिसे पास कर के बेटी परिवार का सहारा बनकर परिजनों का सुनहरा जीवन बनाने का सपना देखती थी लेकिन किस को मालूम था कि क़ुदरत को कुछ और ही मंजूर है।होनहार बेटी की मौत से परिवार के साथ-साथ आस-पड़ोस के लोग भी बेहद दुखी हैं।

बताते चलें कि क्षेत्र में फैली बुखार की बीमारी ने अब जानलेवा बुखार का रूप लेना शुरू कर दिया है। मरने वालों की संख्या हर रोज बढती जा रही है। जिससे बुखार पीडितों में भारी दहशत है।

वहीं हाल ही मे कोतवाली क्षेत्र के गांव बंकावाला निवासी 50 वर्षीय कलुआ को बुखार आने पर एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकेा आराम नहीं हुआ। उसकी प्लेटलेट कम होने से उसकी मौत हो गई। उधर लौंगी खुर्द निवासी जाहिद हुसैन व गांव की ही रईसन बेगम को बुखार आने के कारण मौत हो गई। ग्राम सुल्तान पुर मे फूल जहां की बुखार से मौत हो गई। ग्रामीण क्षेत्रों में बुखार के कारण हो रही मौत से लोग दहशत में है। ग्रामीणों ने गांव में सफाई व्यवस्था को बेहतर कराकर कीटनाशक का स्प्रे कराने की मांग की है। बुखार से हो रहीं इन मौतों से लोगों में दहशत है। बताते चलें कि नगर में भी अब तक इसी बुखार से कई लोगों की मौत हो चुकी है और सरकारी अस्पताल से लेकर निजी अस्पतालों तक तथा उत्तराखंड के काशीपुर के अस्पतालों में भी अनगिनत मरीज़ इस बुखार की चपेट में आकर अपना इलाज करा रहे हैं।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *