रंगीन मिजाज़ पूर्व प्रधानाचार्य की वापसी की ख़बर से नाराज़ युवाओं ने प्रबंधक को सौंपा ज्ञापन

ठाकुरद्वारा।नगर स्थित मुस्लिम कॉलेज में विवादों से जुड़े पूर्व में रहे प्रधानाचार्य की वापसी की ख़बर मिलने के बाद नगर के युवाओं ने कॉलेज प्रबंधक से मुलाक़ात कर के एक ज्ञापन सौंपा।

रविवार को शिक्षित वर्ग से जुड़े दर्जनभर युवाओं ने कॉलेज प्रबंधक पूर्व विधायक मौहम्मद उल्ला चौधरी के आवास पर पहुँचकर उनसे पूर्व प्रधानाचार्य की वापसी के सम्बंध में चर्चा की,युवाओं ने प्रबंधक को बताया कि उन्हें सूत्रों से ज्ञात हुआ कॉलेज प्रबंधन की और से पूर्व प्रधानाचार्य की पुनः नियुक्ति के सम्बंध में एक जाँच कमेटी बनाई गई थी,जो जाँच कमेटी विवादों से जुड़े पूर्व प्रधानाचार्य को बहाल करना चाहती है।युवाओं ने प्रबंधक मौहम्मद उल्ला चौधरी से अनुरोध किया कि जाँच कमेटी से वार्तालाप कर के कॉलेज में शिक्षा ग्रहण कर रहे नगर व क्षेत्र के बच्चो के हित को ध्यान में रखते हुए उचित निर्णय लें।

पूर्व प्रधानाचार्य पर विचारधीन है पोस्को एक्ट का केस

युवाओं ने ज्ञापन में विवादों से घिरे पूर्व प्रधानाचार्य के विरुद्ध चल रहे गम्भीर मुकदमों का हवाला देते हुए बताया कि आरोपी प्रधानाचार्य पर मुस्लिम कॉलेज से जुड़े मामले में पोस्को एक्ट जैसी गम्भीर धाराओं में केस माननीय न्यायालय में विचारधीन है।युवाओं ने कहा कि ऐसे में जाँच कमेटी छात्र-छात्राओं को दांव पर लगाकर ऐसे कैसे पूर्व प्रधानाचार्य को वापसी लेकर एक गरिमा से जुड़े पद वाली कुर्सी पर बैठा सकती है।

पूर्व की घटना से जुड़ा फोटो

पूर्व प्रधानाचार्य की करतूत के चलते हुए जमकर हंगामा

बता दें कि लगभग 7 वर्ष पूर्व कॉलेज में शिक्षा ग्रहण कर रही एक छात्रा से पूर्व प्रधानाचार्य द्वारा फोन पर अश्लीलता करने के मामले में गुस्साए छात्रों ने प्रधानाचार्य की ऑल्टो कार में तोड़फोड़ करते हुए कॉलेज परिसर में जमकर हंगामा किया था,जिसके बाद मौके पर पहुँचकर स्थानीय पुलिस ने बमुश्किल स्थिति को नियंत्रित किया था।इतना ही नही पूर्व प्रधानाचार्य की फोन रिकॉर्डिंग वायरल होने के बाद कॉलेज प्रबंधक की भी काफ़ी किरकिरी हुई थी और कॉलेज प्रबंधन की तरफ से दी गयी शिकायत के बाद ही पूर्व प्रधानाचार्य के विरुद्ध केस दर्ज किया गया था।ऐसे में अब यदि सूत्रों की बातों पर यक़ीन किया जाए तो पूर्व प्रधानचारु पर जाँच कमेटी की महरबानी समझ से परे है।

हम आशा करते हैं कि सभी तरह की चर्चाएं झूठी साबित हो और प्रबंधक कमेटी कॉलेज को अपना परिवार समझते हुए विवादित पूर्व प्रधानाचार्य को शिक्षा के मंदिर में शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्र-छात्राओं से दूर रखेंगे।

ज्ञापन देने वालो में एडवोकेट नईम हसन,एडवोकेट वसीम अहमद,एडवोकेट मोहसिन अख़्तर, सलीम कुरैशी, मौहम्मद आसिम, मौहम्मद शादाब आदि मौजूद रहे।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *