जैविक प्रदेश के रूप में होगी उत्तराखण्ड की पहचान-सीएम धामी

देहरादून में इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ ऑर्गेनिक एग्रीकल्चर मूवमेंट (IFOAM) के सहयोग से “उत्तराखण्ड जैविक उत्पाद परिषद्” द्वारा जैविक कृषि के संबंध में आयोजित कार्यशाला में मुख्यमंत्री पुष्कर सिँह धामी ने शिरक़त की।

उत्तराखण्ड की होगी जैविक प्रदेश के रूप में पहचान

इस दौरान सीएम धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश में जैविक कृषि को बढ़ावा देने के लिए 6400 हेक्टेयर क्षेत्र में “प्राकृतिक कृषि योजना” पर तेजी से कार्य किया जा रहा है।हमारी डबल इंजन की सरकार उत्तराखण्ड को जैविक प्रदेश के रूप में पहचान दिलाने हेतु पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *