मजबूर माता-पिता ने इकलौते बेटे को सुला दिया मौत की नींद

नई दिल्ली।इंसान अपनी औलाद पर आयी किसी भी मुसीबत के लिए अपनी जान की बाज़ी लगा देता है।लेकिन ऐसा क्या हुआ होगा जब माँ-बाप ही मजबूर होकर अपने कलेजे के टुकड़े को मौत की नींद सुला दें।दरअसल एक माता-पिता अपने बेटे से इतना तंग आ गए कि उसकी हत्या कर दी और शव को सड़क किनारे फेंक दिया । पुलिस ने माता-पिता से कड़ाई के साथ पूछताछ की तो हत्या का खुलासा हो गया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।मामला मध्यप्रदेश से सामने आया है।

मुलताई एसडीओपी नम्रता सोंधिया और आमला थाना प्रभारी संतोष पन्द्रे ने अंधे कत्ल का खुलासा करते हुए बताया कि 13 अक्टूबर 2022 को संतोष बिंझवे उम्र 28 साल का शव उसके घर के पीछे सड़क किनारे पड़ा मिला था। गले पर धारदार हथियार से चोट के निशान पाए गए। पुलिस ने पोस्टमार्टम सीएचसी आमला में कराया जिसकी रिपोर्ट में मृतक संतोष बिंझवे को गले मे तेज धारदार हथियार से मारकर हत्या करना बताया गया। इस पर पुलिस ने अज्ञात आरोपितों के खिलाफ धारा 302, 201 का कायम कर विवेचना प्रारंभ की।

तकनीकी साक्ष्य एकत्र कर मृतक के माता-पिता से पूछताछ की गई तो वे आपस में विरोधाभाषी बयान दे रहे थे। मृतक के पिता अभिराम के शरीर पर कुछ चोट के निशान भी पाए गए जिससे संदेह बढ़ गया। पुलिस ने जब बारीकी से पूछताछ की तो मृतक के पिता अभिराम बिंझवे ने जुर्म स्वीकार कर बताया कि बेटा संतोष बिंझवे का व्यवहार अच्छा नहीं था। वह कई सालों से उनके साथ शराब पीकर मारपीट करता आ रहा था। 25 सितंबर 2022 को भी मृतक ने अपने पिता अभिराम को शराब पीकर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया था जिससे उसका दाहिना कान कट गया था। इसके बाद वह अहमदाबाद काम करने भाग गया था। पूर्व में एक बार हाथ भी तोड़ दिया था।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *