बोटर राजा ने कहा नेता चाहिए,चमच्च नही

वसीम अब्बासी

ठाकुरद्वारा।एक तरफ़ जहाँ नेता अपने-आप को चतुर व समझदार मानते हैं तो वहीं उन्हें फर्श से अर्श पर पहुँचाने वाला आम नागरिक भी अपने मताधिकार को लेकर अब पूरी तरह से जागरूक होता नज़र आ रहा है।जी हाँ बोटर राजा अब अपने बोट और उसकी चोट के महत्त्व को समझ चुका है।

बता दें कि आगामी 4 मई को ठाकुरद्वारा मे नगर निकाय चुनाव होने हैं जिसको लेकर सभी दावेदार अपनी-अपनी जीत के भले दावे कर रहे हो,लेकिन आम जनता का मन इस बार कुछ और ही है।लोगो का कहना है कि बड़े वाले नेता जी के कहने पर कभी किसी को तो कभी किसी को बोट देकर कुर्सी तक पहुँचा तो दिया लेकिन सत्ता की मलाई चाटने के लिए जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधि कभी किसी की तो कभी किसी की गोद मे बैठा दिखाई देता है।ऐसे में शहर के विकास को छोड़कर वह अपनी कुर्सी बचाने में लगा रहता है।

लोगो ने बातचीत के दौरान ख़ुलासा किया कि इस बार किसी नेता के प्यादे को नही बल्कि जाति-धर्म से ऊपर उठकर अपने जनप्रतिधि का चुनाव करना है जिससे नगर का रुका हुआ विकास सुचारू हो सके।फ़िलहाल कुछ भी हो 4 मई तक गेंद जनता के हाथों में है और जनता का समर्थन ही किसी एक प्रत्याशी के सिर पर जीत का ताज सजाएगा,बताते चलें कि इस बार चुनावी मैदान मे ऐसे कई चहरे हैं जो बरसाती मेंढक की तरह चुनावी सीज़न में निकलकर जनता के सामने आते है और चुनाव समाप्त होते ही उन्हें जनता व जनहित के मुद्दों से कोई सरोकार नही रहता लेकिन इस बार का चुनावी माहौल देखकर ऐसा लगता है कि जनता इस बार सब की नब्ज़ अच्छे से चेक करने के मूड मे है।

ऐसे मे हम आशा करते हैं कि आम जनता अपने प्रतिनिधि के तौर पर ऐसे व्यक्तित्व का चयन करेगी जो नगर को एक नई दिशा प्रदान करेगा।हम एक ज़िम्मेदार संस्थान होने के नाते सभी मतदाताओं से यह अपील करते हैं कि 4 मई को अपने घरों से निकलकर लोकतंत्र के पर्व (मतदान)मे बढ़-चढ़कर हिस्सा लें।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *