जब पूर्व मंत्री ने सिर पर उठा कर रख ली लोगो के जूतों की गठरी

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो जमकर वायरल हो रही है। जिसमे एक कार्यक्रम के दौरान सपा के पूर्व मंत्री सुधाकर कश्यप मंच से अपने सिर पर जूतों की गठरी उठाकर कश्यप समाज से एक होने की अपील करते हुए नजर आ रहे हैं। इस दौरान पूर्व मंत्री ने मंच से बोलते हुए कहा कि कोई भी नेता किसी पार्टी से जुड़ा हो वो आरक्षण तक एक हो जाए। मेरे समाज को आरक्षण मिल जाए में यही चाहता हुं।

कश्यप समाज द्वारा आयोजित किया गया था कार्यक्रम

मिली जानकारी के मुताबिक, बीते रविवार को जिले के लकड़संधा गांव में कश्यप समाज द्वारा एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में कश्यप समाज के हज़ारो लोग इकट्ठा हुए थे। कश्यप समाज ने इस कार्यक्रम के माध्यम से अपने समाज को एकत्रित रहने का संदेश दिया था। कार्यक्रम के दौरान सपा के पूर्व मंत्री और कश्यप समाज के बड़े नेता सुधाकर कश्यप ने मंच पर भाषण देते हुए जूते से भरी गठरी अपने सिर पर रख ली और अपने समाज को इकट्ठा रहने की मार्मिक अपील की। नेता के इस काम को देखकर कार्यक्रम में मौजूद सभी लोग आश्चर्यचकित रह गए। इस पूरे मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

आरक्षण हासिल करने के लिए की गई थी पंचायत
इन वीडियो के वायरल होने के बाद सुधाकर कश्यप ने अपनी एक वीडियो सोशल मीडिया पर डाली। जिसमें उन्होंने कहा है कि, आज कश्यप समाज की जो पंचायत थी, उसमें समाज के सभी जिम्मेदार लोग थे। उस पंचायत में आरक्षण के मुद्दे पर हम सभी दलों के नेताओं का ये विचार विमर्श हुआ था कि आरक्षण किस तरह हासिल हो तो उसी के परिपेक्ष में आज पंचायत की गई।

हमारे समाज के साथ धोखा किया जा रहा है- सुधाकर कश्यप

उन्होंने कहा कि आपको बताना चाहता हूं कि हमारे समाज के साथ धोखा किया जा रहा है। धोखे के चलते हमने निर्णय लिया है क्योंकि मेरी जाति के लोग और मेरी आत्मा ही मुझे खुद धिक्कार रही है कि मैं 18 सालों से अपने समाज की सेवा करता आ रहा हूं। 18 वर्ष पहले जहा छोड़ा था वो आज भी वहीं है। आज तक आरक्षण नहीं मिला, जबकि हम लोगों ने जो पोटली सिर पर उठाई थी वो जूते चप्पलों की पोटली थी जो समाज के लोग थे, उनके जूते चप्पल की पोटली सिर पर रखी थी और संकल्प लिया था और दिया था। उन्होंने कहा कि मेरे नेतृत्व में आगामी 16 मार्च को गंगा जल की यात्रा निकाली जायेगी जो मुजफ्फरनगर शामली बागपत समेत सभी जनपदों में होते हुए समाप्त होगी।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *