प्रधानाचार्य की बोतल से पानी पीने पर दलित छात्र की बेरहमी से पिटाई,केस दर्ज

बिजनौर से इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है.जातिगत भेदभाव दूर करने के तमाम प्रयासों के बावजूद आए दिन ऐसी घटनाएं सामने आती रहती हैं जिससे सिर शर्म से झुक जाता है. सबसे ज्यादा हैरानी तो तब होती है, जब शिक्षित वर्ग और उसमें भी ऐसे लोग जिनपर देश का निर्माण करने की जिम्मेदारी है ऐसा करते पाए जाते हैं. ग्रामीण इलाकों में यह समस्या ज्यादा बड़ी है. ऐसा ही एक मामला यूपी के बिजनौर जिले से आया है. उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक इंटर कालेज में मेज पर रखी बोतल से पानी पी लेने पर एक दलित छात्र के साथ कथित रूप से मारपीट करने, गाली-गलौज करने और अभद्र भाषा का प्रयोग करने के मामले में प्रधानाचार्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है. पुलिस के एक अधिकारी ने सोमवार को इसकी जानकारी दी.

पिटाई के दौरान अभद्र भाषा का प्रयोग किए जाने का आरोप

अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) राम अर्ज ने बताया कि थाना अफजलगढ़ में एक छात्र ने तहरीर दी कि वह चमनो देवी इंटर कालेज में 11 वीं का छात्र है, रविवार को कॉलेज में 12वीं के छात्रों की विदाई के लिए एक समारोह आयोजित किया गया था. इसी दौरान उसने मेज पर रखी बोतल से पानी पी लिया तो प्रधानाचार्य योगेंद्र कुमार और उनके भाइयों ने मारपीट की और अभद्रता कर आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग किया.

प्रधानाचार्य सहित कई पर केस दर्ज

एएसपी ने बताया कि तहरीर के आधार पर प्रधानाचार्य समेत आरोपियों के खिलाफ अनुसूचित जाति-जनजाति निवारण अधिनियम सहित संबंधित धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) को जांच सौंपी गयी है. उन्होंने कहा कि शीघ्र विवेचना पूरी कर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी. वहीं अब देखना है कि आरोप सही पाए जाने पर क्या कार्रवाई होती है, क्योंकि शिक्षा का प्रचार प्रसार होने और जन जागरूकता के बावजूद ऐसी घटनाएं चिंता बढ़ाने वाली हैं. जरूरी है कि ऐसी घटनाओं पर पूरी तरह से लगाम लगे और समाज में सभी लोग बराबरी से अपना जीवन यापन कर सकें.

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *