जेल में बंद विधायक पति के साथ अलग कमरे में मिली पत्नी,डीएम व एसएसपी ने किया गिरफ़्तार

बाहुबली मुख्तार अंसारी का बेटा और विधायक अब्बास अंसारी मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चित्रकूट की जिला जेल रगौली में बंद है, जिससे मुलाकात करने के लिए अब्बास अंसारी की पत्नी जिला जेल रगौली में पहुंची थी. जेल में छापे के बाद अंसारी की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया गया है.ख़बर है कि उसके पास से विदेशी मुद्रा सहित कई आपत्तिजनक चीजें बरामद हुई हैं. पुलिस ने अब्बास अंसारी की पत्नी के मोबाइल फोन को जब्त कर लिया है और उसे हिरासत में लेकर उससे कड़ी पूछताछ की जा रही है.

बता दें कि पूर्वांचल के माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी को मनी लांड्रिंग के मामले में ईडी ने गिरफ्तार किया था.18 नवंबर 2022 को प्रयागराज के सेंटर जेल से अब्बास अंसारी को हाई सिक्योरिटी जेल चित्रकूट की रगौली जेल भेजा था, जिसके बाद अब्बास अंसारी चित्रकूट जेल में बंद था. उससे मिलने के लिए उसके परिजनों ने चित्रकूट में डेरा डाल लिया था और लगातार नए-नए तरीके से अब्बास अंसारी से मिलने का प्रयास कर रहे थे.जानकारी के मुताबिक कल 10 फरवरो को दोपहर लगभग 12 बजे अब्बास अंसारी की पत्नी निकहत अंसारी पति अब्बास अंसारी से मिलने के लिए चित्रकूट की जिला जेल रगौली पहुंची थी, जिसकी भनक जिला प्रशासन को लग गई.

जिसके बाद डीएम और पुलिस अधीक्षक ने आनन-फानन में जेल पहुंचकर अब्बास अंसारी की पत्नी निकहत अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है. विधायक अब्बास अंसारी और उसकी पत्नी निकहत बानो के खिलाफ आईपीसी और एंटी करप्शन एक्ट की 11 गंभीर धाराओं में केस दर्ज हुआ है. चित्रकूट जेल के अधीक्षक अशोक कुमार सागर, डिप्टी सुपरिटेंडेंट सुशील कुमार, कांस्टेबल जगमोहन समेत जेल के कई कर्मचारियों के खिलाफ भी कर्वी कोतवाली में एफआईआर दर्ज हुई है.

जेल में बंद पति के साथ कई घण्टो तक रहती थी निकहत

एफआईआर के मुताबिक इन दिनों चित्रकूट जेल में बंद विधायक अब्बास अंसारी से मिलने उसकी पत्नी निकहत बानो उससे मिलने के लिए पिछले कई दिनों से रोजाना जेल जाती थी. जेल में बिना किसी लिखा पढ़ी के उसे मोबाइल फोन व दूसरे आपत्तिजनक सामान के साथ अंदर जाने दिया जाता था. जेल में वह रोजाना अपने पति के साथ कई घंटों तक अलग कमरे में रहती थी. आरोप है कि पत्नी निकहत बानो अपने साथ दो मोबाइल फोन रखती थी. विधायक अब्बास अंसारी पत्नी के मोबाइल फोन से तमाम लोगों को धमकियां देता था और अपने गुर्गों से बातचीत करता था. जेल में रहकर ही रंगदारी वसूलता था.

गवाहों की हत्या की रची जा रही थी साजिश

जेलअधीक्षक व दूसरे अधिकारी कर्मचारी पैसों व दूसरे उपहार की लालच में अवैध काम करने की छूट देते थे. अब्बास और उसकी पत्नी को अलग कमरा मुहैया कराते थे. बिना किसी लिखा पढ़ी के पत्नी निकहत बानो समेत अन्य लोगों को जेल में बेरोकटोक आने जान की इजाजत दी जाती थी. एफआईआर के मुताबिक पत्नी निकहत ने बयान में बताया है कि अब्बास अंसारी जेल में रहकर ही कई लोगों की हत्या की साजिश रच रहा था. कई पुलिस अधिकारियों- गवाहों व अभियोजन से जुड़े लोगों की हत्या की साजिश रची जा रही थी. वह पत्नी निकहत को भी अपने नाम पर डराने धमकाने का निर्देश देता था. पत्नी के जरिए धमकी दिलाता था कि अगर उसकी बात नहीं मानी गई तो हत्या कर दी जाएगी. मुखबिर की सूचना पर चित्रकूट के डीएम और एसपी ने कल दोपहर को गुपचुप तरीके से जेल में छापेमारी की थी

बैरक की जगह जेल अधीक्षक के बगल के कमरे में मिला पत्नी के साथ

छापेमारी के दौरान विधायक अब्बास अंसारी अपनी बैरक में नहीं मिला.वह पत्नी निकहत के साथ जेल अधीक्षक के बगल के कमरे में था. पत्नी निकहत के पास से पुलिस ने दो मोबाइल फोन, ज्वेलरी, 21 हजार रुपये नकद और विदेशी मुद्रा भी बरामद की थी. निकहत के पर्स से 12 रियाल बरामद हुए थे. रियाल सऊदी अरब की करेंसी है. अफसरों को जेल में देखकर निकहत ने अपने मोबाइल फोन के तमाम डाटा डिलीट कर दिए थे.

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *