पटाखा विस्फ़ोट:मलबे में दबने से नमाज़ पढ़ रही तीन बेटियों की मौत

पीलीभीत के जहानाबाद कस्बे के जोशीटोला में घनी आबादी के बीच बने एक मकान में आतिशबाजी की अवैध रूप से रखी 25 पेटियों में आग लगने से विस्फोट हो गया। इससे मकान की दूसरी मंजिल पर बने दो कमरे धराशायी हो गए। हादसे में पटाखा व्यापारी अजीम बेग की तीन बेटियों की झुलसने और मलबे में दबकर मौत हो गई। अजीम बेग ने मकान में नीचे के कमरे में आतिशबाजी का भंडार कर रखा था।

दोपहर करीब ढाई बजे आतिशबाजी में आग लगने से जबरदस्त विस्फोट हुआ। इससे छत पर बने कमरे में मौजूद अजीम बेग की दो पुत्रियां निशा (17) और सानिया (15) बुरी घायल हो गईं। जबकि तीसरी बेटी नगमा (18) नीचे गिरकर मलबे में दब गई। करीब एक घंटे तक पटाखे फटने की आवाज आती रही। चीखपुकार के बीच आसपास के लोग पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया। आग की लपटों के बीच से घुसकर पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से निशा और सानिया को निकाला।

तीसरी पुत्री नगमा (18) को मलबा से निकालने मे दो घंटे लग गए। तीनों को जिला अस्पताल भेजा गया। हालत गंभीर देखकर तीनों को बरेली रेफर कर दिया गया। वहां जिला अस्पताल में शाम को तीनों की मौत हो गई। इस बीच घटना का पता चलने पर एसपी दिनेश कुमार पी, एएसपी डॉ. पवित्र मोहन त्रिपाठी, एसडीएम योगेश कुमार गौड़, फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची।

नमाज पढ़ रही थीं घटना के वक्त तीनों बेटियां

विस्फोट के समय मकान में पटाखा व्यापारी अजीम बेग की पत्नी फिरोज बेगम और छह बच्चे मौजूद थे। तीन बेटियां अंदर के हिस्से में और मां समेत तीन बच्चे बाहरी हिस्से में थे। तीन बेटियां झुलसकर और मलबे में दबकर गईं।

बाकी ने खुद को किसी तरह से बचा लिया। फिरोज बेगम ने बताया कि हादसे के दौरान तीनों बेटियां निशा, सानिया और नगमा नमाज पढ़ रहीं थीं। फिरोज बेगम के मुताबिक बारिश के बीच बिजली गिरने से पटाखों में आग लगी।

आसपास के मकान भी क्षतिग्रस्त

अजीम के घर विस्फोट होने से उनके सगे भाई नसीम बेग, कदीर खां, महीवली जोशी, पप्पू के मकान क्षतिग्रस्त हो गए। जबकि आसपास के मकानों की छतों पर पड़ा मलबा पड़ा था। पुलिस ने बाद में सख्ती दिखाते हुए आसपास की छतों को खाली करा दिया।

बिक्री के लिए घर में रखे जा रहे थे पटाखे, नहीं की गई कार्रवाई
एसपी ने बताया कि आतिशबाजी बनाने और बिक्री के लिए अजीम पर वर्ष 2025 तक का लाइसेंस है। इसके लिए उन्होंने कस्बे से एक किलोमीटर दूर गोदाम बनाया है। लाइसेंस भी वहीं के लिए है। इसके बावजूद अजीम ने बेचने के लिए घर में आतिशबाजी का काफी सामान रख लिया था। चर्चा यह भी है कि स्काई शॉट (हवाई पटाखा) बनाते वक्त हादसा हुआ।

अजीम बेग के पास 2025 तक का पटाखा बनाने का लाइसेंस है। जिसकी जांच कराई जा रही है। पटाखों की 20-25 पेटियां बिक्री के लिए घर में रखी थीं। अचानक आग लग गई। फोरेंसिक टीम से जांच कराई जा रही है। घर में आतिशबाजी कैसे रखी थी, सीओ सदर लल्लन सिंह की अध्यक्षता वाली टीम इसकी जांच करेगी।

दोस्तों हर नमाज के बाद आयतल कुर्सी पढ़ना बेहतर हैं, क्योंकि आयतल कुर्सी कुरआन की बुजुर्गतरीन आयतों में एक हैं।

Author: TheBharat Times

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *