adplus-dvertising

अब‘सॉरी’ से नहीं चलेगा काम,पुलिसकर्मियों को लापरवाही करने पर भुगतनी पड़ेगी सज़ा

कानपुर। काम के प्रति जिम्मेदारी न निभाने, काम में लापरवाही करने और जनता के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले पुलिसकर्मियों के लिये कमिश्नरेट बेहद सख्त है। अभी पिछले ही हफ्ते पुलिस आयुक्त अखिल कुमार ने फीडबैक सेल की रिपोर्ट पर बड़ी कार्रवाई करते हुये जनता के साथ अच्छा व्यवहार न करने वाले बतौर सजा दो एसआई समेत सात पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया था। पांच जुलाई को मूलरूप से साढ़ थाना क्षेत्र के कुड़नी गाजीपुर गांव निवासी हरिकरन की वैन संचालक सौरभ सचान ने हत्या कर दी थी। थाना नौबस्ता में हुई घटना में पद पर रहते कर्तव्यों के प्रति घोर शिथिलता/लापरवाही के कारण चौकी प्रभारी समेत तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। इसके अलावा नौबस्ता थाना प्रभारी जगदीश पांडेय को हटा दिया गया है। उनकी जगह पर अभी तक कर्नलगंज थाना प्रभारी रहे संतोष कुमार सिंह को नौबस्ता का चार्ज दिया गया गया। काफी समय से नौबस्ता थाना प्रभारी रहे जगदीश पांडेय जन शिकायत प्रकोष्ठ में तैनात किये गये हैं।

मालूम हो कि थानाक्षेत्र नौबस्ता की चौकी बसंत बिहार के नौबस्ता चौराहा स्थित कचौरी वाले के सामने हरिकरन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
घटना में मृतक के पुत्र की तहरीर के आधार पर थाना नौबस्ता जगदीश पांडेय पर मु0अ0सं0-318/24 धारा-103(1) बीएनएस-2023 बनाम सौरभ सचान एवं अन्य साथी नाम पता अज्ञात के विरुद्ध पंजीकृत किया गया जिसकी विवेचना प्रभारी निरीक्षक नौबस्ता जगदीश प्रसाद पाण्डेय कर रहे थे।

सहायक पुलिस आयुक्त नौबस्ता द्वारा पुलिस उपायुक्त दक्षिण को प्रेषित रिपोर्ट से संज्ञानित कराया गया कि मृतक हरिकरन सिंह व अभियुक्त सौरभ सचान के बीच पूर्व से वाहन में सवारी बैठाने एवं टैक्सी स्टैण्ड से अवैध वसूली की शिकायत थी लेकिन चौकी प्रभारी उप निरीक्षक छत्रपाल सिंह, उ०नि० सत्येन्द्र सिंह व बीपीओ हेड कांस्टेबिल अवधेश कुमार ने सही ढंग से विधिक कार्यवाही नहीं की गयी। जिसके फलस्वरूप हत्या जैसी गम्भीर घटना घटित हुयी।

माना गया कि अगर इनके द्वारा प्रकरण को गम्भीरता से लिया जाता तो इस तरह की गम्भीर घटना से बचा जा सकता था। चौकी प्रभारी छत्रपाल सिंह, हल्का प्रभारी उ०नि० सत्येन्द्र सिंह व बी०पी०ओ0 मु०आ० अवधेश कुमार चौकी क्षेत्र में जुर्म की रोकथाम एवं सतर्क दृष्टि रखने में विफल रहे। जिससे इस प्रकार की जघन्य घटना घटित हुयी है। उक्त घटना घटित होने से स्पष्ट होता है कि इनके द्वारा अपने पदीय कर्तव्यों के प्रति घोर शिथिलता/लापरवाही बरती गयी है। सहायक पुलिस आयुक्त, नौबस्ता की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस उपायुक्त दक्षिण ने तत्कालीन चौकी प्रभारी बसंत बिहार, बीट प्रभारी उ0नि0 सत्येंद्र सिंह, बीपीओ हे0का0 अवधेश कुमार को निलम्बित कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hosted with