adplus-dvertising

सिगरा स्टेडियम देखकर मुग्ध हो गये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,TSH की तर्ज पर वाराणसी में विशाल मल्टी स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स

वाराणसी/कानपुर। औद्योगिक नगरी कानपुर की आन-बान-शान ‘द स्पोर्ट्स हब’ (टीएसएच) की तर्ज पर वाराणसी में तैयार किये गये विशाल सिगरा मल्टी स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स को देखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुग्ध हो गये। मंगलवार को प्रधानमंत्री श्री मोदी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ सिगरा स्टेडियम का निरीक्षण कर अपने एक्स हैंडल से पोस्ट करके भव्यता को सराहा। खास बात यह है कि 66782.4 स्क्वायर मीटर एरिया में सिगरा स्टेडियम का निर्माण कानपुर की विख्यात कंपनी एमएचपीएल ने किया है।
बता दें कि पूर्वांचल की खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी को इस साल 23 फरवरी को सिगरा इंडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स की सौगात दी थी। तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कल मंगलवार को देर रात सिगरा स्टेडियम में जाकर कार्य की प्रगति का जायजा लिया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ थे। स्टेडियम परिसर का दौरा करने के बाद प्रधानमंत्री ने पूर्वांचल के खिलाड़ियों की इस सौगात को अपने एक्स हैंडल से पोस्ट करके सिगरा स्पोट्स कॉम्पलेक्स की भव्यता की सराहाना की।


गौरतलब है कि कि 66782.4 स्क्वायर मीटर के विशाल क्षेत्र में बने इस स्टेडियम में सभी तरह के इंडोर और आउटडोर खेलों का आयोजन हो सकेगा। प्रधानमंत्री की इस सौगात को पूर्वांचल की खेल प्रतिभाओं के लिये बड़ा वरदान माना जा रहा है। कई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी इस स्टेडियम की बनावट और उपलब्ध सुविधाओं के लिये कार्यदायी संस्था एमएचपीएल की सराहना कर चुके हैं।
बीते कई वर्षों से उत्तर प्रदेश खेल विभाग की जमीन पर बना डा0 संपूर्णानंद सीगरा स्टेडियम खस्ताहाल पड़ा हुआ था। इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर खेलो इंडिया और स्मार्ट सिटी के सहयोग से ‘टू बिल्ड पद्धति’ पर ई.पी.सी. मोड पर एम.एच.पी.एल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कानपुर ने रिकॉर्ड समय में टारगेट से पहले तैयार किया गया है।

एमएचपीएल के डायरेक्टर प्रणव अग्रवाल ने कहा कि ‘‘हमें बेहद गर्व और सम्मान महसूस हो रहा है कि भारत के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सिगरा, वाराणसी में हमारी कंपनी एमएचपीएल द्वारा डिजाइन और निर्मित हमारी मल्टी स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स परियोजना का निरीक्षण किया। यह प्रतिष्ठित यात्रा गुणवत्ता और समयबद्धता के साथ उत्कृष्ट बुनियादी ढांचे के निर्माण में हमारी पहल के महत्व को रेखांकित करती है। यह एमएचपीएल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है, जो हमारे राष्ट्र की प्रगति में योगदान देने वाली अत्याधुनिक सुविधाओं को विकसित करने के प्रति हमारे समर्पण को दर्शाता है।

इसलिये अनोखा है सिगरा स्टेडियम

यह अत्याधुनिक देश का प्रथम मल्टी स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स अपने आप में अनोखा है । इसमें कई खेल जैसे बैडमिंटन के 10 कोर्ट, स्क्वाश के 4 कोर्ट, 4 बिलियर्ड्स की टेबल रूम, 2 इंडोर बास्केट बॉल कोर्ट, 20 टेबल टेनिस, कवर्ड ओलंपिक साइज स्विमिंग पुल, कवर्ड वार्म अप स्विमिंग पुल जिमनास्टिक, जूडो , कराटे, मार्शल आर्ट्स, योगा , रेसलिंग .तायकंडों, बॉक्सिंग, वेट लिफ़्टिंग, हाई टेक जिम्नेजियम जो की दो मंजिलो में बना है।

बोर्ड गेम्स इत्यादि खेल अत्याधुनिक वातावरण में खेले जा सकेंगे

स्ववित्त पोषी बनाने का प्रयास-
इसके अतिरिक्त इसको स्ववित्त पोषी बनाने के लिये आय के श्रोत के लिये निम्न सुविधाएं भी समायोजित की गयी है जो की विश्व स्तर मानक की हैं जिनमें स्पोर्ट्स लाइब्रेरी, कॉम्बैट स्पोर्ट्स हॉल, स्पोर्ट्स सेमिनार हॉल, कई कैफ़े, फील्ड व्यू लाउंज भी शामिल हैं। यहाँ पर खिलाड़ियों को अंतराष्ट्रीय सुविधा से लैस अत्याधुनिक स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में कोचिंग भी दी जा सकेगी। जिससे अंतराष्ट्रीय लेवल के मेडल विनर तैयार होंगे। दैनिक मॉर्निंग वॉकरो हेतु स्टेडियम की पूरी परिधि में सॉफ्ट नेचुरल ट्रैक का भी प्रावधान किया गया है।

ग्रीन बिल्डिंग मानक पर बनी बिल्डिंग

सम्पूर्ण इंडोर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स अत्याधुनिक बिल्डिंग टेक्नोलॉजी से बनाया गया है । इसका सम्पूर्ण स्ट्रक्चर स्टील का है एवं डेक स्लैब सिस्टम से सभी छत पड़ी हैं । मोडुलर इंसुलेटेड दीवारें, जिप्सम प्लास्टर इत्यादि से निर्मित भवन में निर्माण में न्यूनतम जल का इस्तेमाल हुआ है। ग्रीन बिल्डिंग मानक पर बनी इस बिल्डिंग में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, डबल ग्लेज़्ड इंसुलेटेड ग्लास, डबल स्किन इंसुलेटेड रूफ शीटिंग, रीसाइक्लेड जल को फ्लशिंग एवं हरियाली में इस्तेमाल किया जाएगा। सबसे खास बात यह कि इस बिल्डिंग को डिज़ाइन टू बिल्ड पद्धति पर ई.पी.सी. मोड पर एम.एच.पी.एल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड कानपुर द्वारा रिकॉर्ड समय में टारगेट से पहले तैयार किया गया है।

180 शैय्या का हॉस्टल ब्लॉक
इसी परियोजना में खेलों इंडिया द्वारा वित्त पोषित आगे दो चरणों का कार्य भी युद्ध स्तर पर चल रहा है जो लगभग 90 प्रतिशत पूर्ण है। इसमें नेशनल सेंटर ऑफ़ एक्सीलेंस भवन, 180 शैय्या का हॉस्टल ब्लॉक, कोचेस एकोमोडेशन, एथलेटिक ट्रैक, फुटबॉल फील्ड, क्रिकेट फील्ड, लॉन टेनिस मय फ्लड लाइट के होंगी एवं खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर की कोचिंग दी जाएगी एवं उच्च स्तरीय चौंपियनशिपस का आयोजन हो सकेगा। इसकी लागत लगभग 350 करोड़ रुपए है।

अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी कर चुके तारीफ

स्टेडियम के बनने की शुरुआत होने से अब तक स्वयं माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने परिसर का निरीक्षण किया और परिसर के साथ ही काम करने वाली एमएचपीएल कंपनी के मानकों और सोच की तारीफ भी की। साथ ही भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पुलेला गोपीचंद, राईफ़ल निशानेबाज गगन नारंग और पैरालिंपिक खेलों में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला दीपा मलिक भी स्टेडियम की तारीफ कर चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hosted with